Success Khan Logo

हिन्दी उपसर्ग एवं प्रत्यय

उपसर्ग

ऐसे शब्द या शब्दांश जो किसी शब्द से पहले प्रयुक्त होकर उस शब्द के अर्थ में परिवर्तन कर देते है, उपसर्ग कहलाते है |
जैसे – संस्कृत के उपसर्ग: अति – अतिरिक्त , अत्यधिक आदि |
हिंदी के उपसर्ग: अ – आभाव , अटल आदि
उर्दू के उपसर्ग: – खूब -खुशबु , खुशहाल आदि |



प्रत्यय

प्रत्यय उस शब्द को कहते है जो किसी शब्द के अंत में आकर उस शब्द के विभिन्न अर्थ को प्रकट करते है | प्रत्यय शब्द के अंत में आता है | जैसे – ‘ भला ‘ शब्द के अंत में ‘ आई ‘ प्रत्यय लगाकर ‘ भलाई ‘ शब्द बनता है | ये दो प्रकार के होते है –

(1). कृत प्रत्यय – क्रिया की मूल धातु के अंत में लगने वाले प्रत्ययों को कृत -प्रत्यय कहते है | इनके मेल से बने शब्द को कृदन्त कहते है | यह प्रत्यय क्रिया अर्थात धातु का नया अर्थ देता है | कृत प्रत्यय के योग से संज्ञा विशेषण बनते है | हिंदी में क्रिया के अंत का ‘ ना ‘ हटा देने से अंश बच जाता है | वही धातु है | जैसे – कहना -कह , चलना – चल आदि |

कृत प्रत्यय – आऊ (हिंदी) , आडी (हिंदी) , वैयो (हिंदी) , अनीय (संस्कृत)
क्रिया या धातु – टिकना -टि , खेलना – खेल , खेलना – खे , देखना – दृश
शब्द (संज्ञा) – टिकाऊ , खिलाडी , खेवैया , दर्शनीय

(2). तद्धित प्रत्यय – संज्ञा और विशेषण के अंत में लगने वाले प्रत्ययों को तद्धित प्रत्यय कहते है और इनके मेल से बने शब्दों को तद्धितान्त कहते है |

कृदंत और तद्धित में अंतर – कृत और तद्धित दोनों प्रत्यय है | किन्तु कृदंत में क्रिया धातु के अंत में प्रत्यय लगता है | इससे संज्ञाएँ और विशेषण बनते है | इनके विपरीत तद्धितांत में संज्ञा और विशेषण के अंत में प्रत्यय लगाकर नए शब्द बनाये जाते है | यही मूल अन्तर है |

  • संज्ञा से विशेषण
    अंत – अन्त्य
    तालु – तालव्य
    ग्राम – ग्राम्य
    नौ – नाविक
  • विशेषण से संज्ञा
    लघु – लघुत्व
    गुरु – गौरव
    लघु – लाघव

कुछ महत्त्वपूर्ण प्रत्यय एवं उनसे निर्मित शब्द

  • प्रत्यय  – प्रत्यय से बने शब्द
  • आयन – रामायण , बादशयन , धनायन
  • इक – तार्किक , वार्षिक , धार्मिक, नैतिक
  • इत – पुष्पित , कल्पित , इच्छित , दीक्षित
  • इय – क्षत्रिय , गोत्रीय , द्वितीय , तृतीय
  • ता – प्रभुता , लघुता , समता , दुष्टता
  • त्य – पाश्चात्य , अमात्य , अभिजात्य
  • मान – बुद्धिमान , शक्तिमान , वर्धमान
  • आई – चतुराई , पढाई , लिखाई, सिलाई
  • आस – मिठास , विंदास . उदास , लिबास
  • पन – लड़कपन , बचपन , पागलपन , बड़प्पन
  • पा – बुढ़ापा , मोटापा ,सजापा
  • औती – बपौती , फिरौती , घुमौती , चुनौती|






Explore