Success Khan Logo

कम्प्यूटर Online Notes

▬ आज का युग कम्प्यूटर का युग है। आज जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में कम्प्यूटर का समावेश है | वृहत पैमाने पर गणना करने वाले इलेक्ट्रोनिक संयंत्र को संगणक अथवा कम्प्यूटर कहते है | अर्थात कम्यूटर वह युक्ति है. जिसके द्वारा स्वचालित रूप से विविध प्रकार के आंकड़ों को संसाधित एवं संचयित किया जाता है। वर्तमान स्वरूप का पहला कम्प्यूटर मार्क-1 था, जो 1937 ई० में बना था।



▬ कम्प्यूटर के कार्य: कम्प्यूटर के प्रमुख तकनीकी कार्य चार प्रकार के होते हैं-(1) आंकड़ों का संकलन या निवेशन, (ii) आकड़ों का संचयन, (iii) आंकड़ों का संसाधन और (iv) आंकड़ों या प्राप्त जानकारी का निर्गमन या पुनर्निर्गमन | आंकड़े लिखित, मुद्रित, श्रव्य, दृश्य रेखाडित या यात्रिक चेष्टाओं के रूप में हो सकते हैं।

हाईवेयर (Hardware): कम्प्यूटर और उससे संलग्न सभी यंत्रों और उपकरणों को हार्डवेयर कहा जाता है। इसके अन्तर्गत केन्द्रीय संसाधन एकक, आतंरिक स्मृति, बाह्य स्मृति, निवेश एव निर्गम एकक आदि आते हैं।

▬ सॉफ्टवेयर (Software): कम्प्यूटर के संचालन के लिए निर्मित प्रोग्रामों को सॉफ्टवेयर कहा जाता है।

▬ कम्प्यूटर की भाषाएँ (Language of Computer): कम्प्यूटर की भाषा को निम्न तीन वर्गों में बाँटा जा सकता है। 1. मशीनी कूट भाषा (Machine Code Language) 2. असेंबली कूट भाषा (Assembly Code Language) 3. उच्च स्तरीय भाषाएँ (High Level Language)

  1. मशीनी कूट भाषा (Machine Code Language) : इस भाषा में प्रत्येक आदेश के दो भाग होते हैं- आदेश कोड (Operation code) तथा स्थिति कोड (Location Code) इन दोनों को 0 और 1 के क्रम में समूहित कर व्यक्त किया जाता है। कम्प्यूटर के आरंभिक दिनों में प्रोग्रामरों द्वारा कम्यूटर को आदेश देने के लिए 0 तथा 1 के विभिन्न क्रमों का ही प्रयोग किया जाता था। यह भाषा समयग्राही थी, जिसके कारण एसेम्बली एवं उच्च स्तरीय भाषाओं का प्रयोग किया जाने लगा।
  1. एसेम्बली भाषा (Assembly Language): इस भाषा में याद रखे जाने लायक कोड का प्रयोग किया गया, जिसे नेमोनिक कोड कहा गया। जैसे ADDITION के लिए ADD, SUBTRACTION के लिए SUB एवं JUMP के लिए JMP लिखा गया। परन्तु इस भाषा का प्रयोग एक निश्चित संरचना वाले कम्यूटर तक ही सीमित था, अतः इन भाषाओं को निम्न स्तरीय भाषा कहा गया।
  1. उच्चस्तरीय भाषाएँ (High Level Languages): उच्चस्तरीय भाषाओं के विकास का श्रेय IBM कम्पनी को जाता है। फॉरट्रन (FORTRAN) नामक पहली उच्चस्तरीय भाषा का विकास इसी कम्पनी के प्रयास से हुआ। इसके बाद सैकड़ों उच्चस्तरीय भाषाओं का विकास हुआ। ये भाषाएँ मनुष्य के बोलचाल और लिखने में प्रयुक्त होने वाली भाषाओं के काफी करीब है।

कुछ उच्चस्तरीय भाषाएँ निम्न हैं

  1. फॉरटन (FORTRAN): कम्प्यूटर की इस भाषा का विकास IBM के सौजन्य से जे० डब्ल्यू बेकस ने 1957 ई० में किया था। इस भाषा का विकास गणितीय सूत्रों को आसानी से और कम समय में हल करने के लिए किया गया था।
  1. कोबोल (COBOL): कोबोल वास्तव में कॉमन व्यूजिनेस ऑरियेन्टेड लैंगुएज का संक्षिप्त रूप है। इस भाषा का विकास व्यवसायिक हितों के लिए किया गया। इस भाषा की संक्रिया के लिए लिखे गए वाक्यों के समूह को पैराग्राफ कहते हैं। सभी पैराग्राफ मिलकर एक सेक्शन बनाते हैं और सेक्शनों से मिलकर डिवीजन बनता है।
  1. बेसिक (BASIC): यह अंग्रेजी के शब्दों बिगनर्स ऑल पर्पस सिम्बोलिक इंस्ट्रक्शन कोड का संक्षिप्त रूपान्तर है। इस भाषा में प्रोग्राम में निहित आदेश के किसी निश्चित भाग को निष्पादित किया जा सकता है, जबकि इससे पहले की भाषाओं में पूरे प्रोग्राम को कम्प्यूटर में डालना होता था और प्रोग्राम के ठीक होने पर आगे के कार्य निष्पादित होते थे |
  1. अल्गोल (ALGOL): यह अंग्रेजी के अल्गोरिथ्मक लंगुएज का संक्षिप्त रूप है। इसका निर्माण जटिल बीजगणितीय गणनाओं में प्रयोग हेतु बनाया गया था।
  1. पास्कल (PASCAL): यह अल्गोल का परिवर्द्धित रूप है। इसमें सभी चरों को परिभाषित किया गया है. जिसके कारण यह अल्गोल एवं बेसिक से भिन्न है।
  1. कोमाल (COMAL): यह Common Algorithmic Language का संक्षिप्त रूप है | इस भाषा का प्रयोग माध्यमिक स्तर के छात्रों के लिए किया जाता है।
  1. लोगो (LOGO): इस भाषा का प्रयोग छोटी उम्र के बच्चों को ग्राफिक रेखानुकृतियों की शिक्षा देने के लिए किया जाता है।
  1. प्रोलोग (PROLOG): यह अंग्रेजी शब्द प्रोग्रामिंग इन लॉजिक का संक्षिप्त रूप है। इस भाषा का विकास 1973 ई० में फ्रांस में किया गया था। इसका विकास कृत्रिम बुद्धि के कार्यों के लिए किया गया है, जो तार्किक प्रोग्रामिंग में सक्षम है।
  1. फोर्थ (FORTH): इस भाषा का आविष्कार चार्ल्स मूरे ने किया था। इसका उपयोग कम्प्यूटर के सभी प्रकार के कार्यों में होता है। इन सभी उच्च स्तरीय भाषाओं में एक समानता है के लगभग सभी में अंग्रेजी के वर्णों (A, B,C,D….आदि) एवं इण्डो-अरेबियन अंकों (0,1,2,3….आदि) का प्रयोग किया जाता है।

नोट : PILOT,C,C++, LISP, UNIX. एवं SNOBOL कुछ अन्य उच्च स्तरीय भाषा है।

कम्प्यूटर के विभिन्न भाग

सी पी यू (CPU): यह सेन्ट्रल प्रोसेसिंग यूनिट का संक्षिप्त रूप है। इसे कम्प्यूटर का मस्तिष्क कहा जाता है।

▬ रैम (RAM): यह रेण्डम ऐसेस मेमोरी का संक्षिप्त रूप है। सामान्य भाषा में इसे कम्प्यूटर की याददाश्त (Memory) कहा जाता है। रैम की गणना मेगाबाइट्स (इकाई) से होती है।

▬ रोम (ROM): यह रीड ऑनली मेमोरी का संक्षिप्त रूप है। यह हार्डवेयर का वह भाग है, जिसमें सभी सूचनाएँ स्थायी रूप से इकट्ठा रहती है और जो कम्प्यूटर को प्रोग्राम संचालित करने का निर्देश देता है।

▬ मदर बोर्ड (Mother Board) : यह सर्किट बोर्ड होता है, जिसमें कम्प्यूटर के प्रत्येक प्रनमः लगाए जाते हैं। सीपीयू रैम आदि यूनिटें मदरबोर्ड में ही संयोजित रहती है।

▬ हार्ड डिस्क (Hard Disk): इसमें कम्प्यूटर के लिए प्रोग्रामों को स्टोर करने का कार्य होता है।

▬ फ्लॉपी डिस्क ड्राइव (Floppy Disk Drive): यह सूचनाओं को सुरक्षित करने या सूचनाओं को एक कम्प्यूटर से दूसरे कम्प्यूटर में आदान-प्रदान करने में प्रयुक्त होता है।

▬ सीडी रोम (CD-ROM): सीडी रोम यानि कॉम्पैक्ट डिस्क छोटे-से आकार में होते हुए भी बहुत बड़ी मात्रा में आंकड़ों एवं चित्रों को ध्वनियों के साथ संग्रहित करने में सक्षम होता है।

▬ की-बोर्ड (Key Board): कम्प्यूटर की लेखन प्रणाली के लिए उपयोग में लाया जाने वाला उपकरण की-बोर्ड कहलाता है। सामान्यतः 101 की-बोर्ड को अच्छा माना जाता है।

▬ माउस (Mouse) : इसकी सहायता से स्क्रीन पर कम्प्यूटर के विभिन्न प्रोग्रामों को इसी के माध्यम से संचालित किया जाता है।

▬ मॉनीटर (Monitor) : इस पर कम्प्यूटर में निहित जानकारियों को देखा जा सकता है। अच्छे रंगीन मॉनीटर में 256 रंग आते है। मॉनीटर में डॉट पिच का उपयोग होता है. डॉटपिच पर जितने कम नम्बर होते हैं, स्कीन पर उभरने वाली छवि उतनी ही साफ और गहराई के लिए होती है।

▬ असेम्बरलर, असेम्बली भाषा को यंत्र भाषा में परिवर्तित करता है।

▬ एक कम्प्यूटर की स्मृति सामान्य तौर से किलोबाइट अथवा मेगाबाइट के रूप में व्यक्त की जाती है। एक बाइट आठ द्विआधारी अंको का बना होता है।

▬ ‘अनुपम’ भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र द्वारा विकसित सुपर कम्प्यूटर है।

▬ T-3A विश्व का सबसे तेज कम्प्यूटर है।

▬ कम्प्यूटर डाटा की सबसे छोटी इकाई बिट है। ‘बाइनरी इकाई के आरंभिक एवं अंतिम अक्षरो से बने संक्षिप्त शब्द – 0 से 1 को बिट कहा जाता है।

▬ माइक्रोप्रोसेसर को पेन्टियम (Pentium) ब्राण्ड के नाम से बाजार में बेचा जाता है। इन्टेल का अधुनातन माइक्रोप्रोसेसर Pentium-IV है।

▬ वह कम्प्यूटर जो आंकलन के सिद्धान्त के अनुसार कार्य करता है, एनालॉग कम्प्यूटर कहलाता है।

▬ एनालॉग एवं डिजिटल के संयुक्त स्वरूप को हाइब्रिड कम्प्यूटर कहते हैं।

▬ मध्यम आकार के कम्प्यूटर को मिनी कम्प्यूटर कहते हैं।

▬ सूक्ष्मतम आकार के कम्प्यूटर को माइक्रो कम्प्यूटर कहते हैं।

▬ सामान्य कम्प्यूटर की अपेक्षा 10 गुना तेज कार्य करने वाले बड़े कम्प्यूटर को सुपर कम्प्यूटर कहते है।

▬ एक सुपर कम्प्यूटर में करीब 40 हजार माइक्रो कम्प्यूटर जितनी परिकलन क्षमता होती है। इसकी गति को मेगाफ्लॉप से मापा जाता है।

▬ विश्व का प्रथम सुपर कम्प्यूटर के० के० 1-एस था, जो 1979 में बनकर तैयार हुआ था। इसे अमेरिका के के रिसर्च कम्पनी ने बनाया था।

▬ 32 कम्प्यूटरों के बराबर कार्य कर सकने वाला डीप ब्ल्यू कम्प्यूटर एक सेकेंड में शतरंज की 20 करोड़ चाले सोच सकता है। इसी सुपर कम्प्यूटर ने विश्व चैम्पियन गैरी कास्पोरोब को पराजित किया था।

▬ विश्व के प्रथम इलेक्ट्रोनिक डिजिटल कम्प्यूटर का नाम एनीयक है।

▬ विश्व का सबसे बड़ा कम्प्यूटर नेटवर्क का नाम इंटरनेट है। याहू, गूगल एवं MSN इन्टरनेट सर्च ईजन है।

▬ इंटरनेट पर उपलब्ध होने वाली प्रथम भारतीय समाचर पत्र द हिन्दू है।

▬ इंटरनेट पर उपलब्ध होने वाली प्रथम भारतीय पत्रिका इण्डिया टूडे है।

▬ USENET तमाम विश्वविद्यालयों को एक साथ जोड़ने की प्रणाली है।

▬ इंटरनेट सूचना की खोज करने में आर्क सबसे ज्यादा मदद करता है।

▬ आर्क का विकास मैकगिल यूनिवर्सिटी ने किया था |

▬ जब किसी नेटवर्क का इंटरनेट धारक अन्य नेटवर्क के साथ जुड़ता है, तो उसे गेटवे कहते हैं।

▬ इंटरनेट से जुड़ा वह संगणक जहाँ विशेष प्रकार की सूचनाएँ उपलब्ध हो, साइट कहलाता है।

▬ पास या दूर के किसी संगणक या नेटवर्क से सूचनाएँ मोडोम की मदद से अपने संगणक में लाने की प्रक्रिया को डाउनलोड कहते है।

▬ मोडम कम्प्यूटरों को आपस में जोड़ने का उपकरण है, जो टेलीफोन लाइन पर काम करता है।

▬ पास या दूर के किसी संगणक को अपने संगणक से सूचनाएँ भेजना अपलोड कहलाता है।

▬ कम्प्यूटर्स की 5 पीढ़ियाँ विकसित की गयी है।

▬ पहली पीढ़ी के कम्प्यूटर में निर्वात ट्यूब प्रयुक्त होता है।

▬ आधुनिक कम्प्यूटर में प्रायः सेमीकण्डक्डर मेमोरी (स्मरण शक्ति) का कार्य करती है।

▬ कम्प्यूटर बोर्ड में कुल आठ सयोजक होते हैं।

▬ 1 किलोबाइट (KB) 1024 वाइट के तुल्य होता है।

▬ 1 MB (मेगाबाइट) 1024 KB बराबर होता है।

▬ 1 GB (गीगाबाइट) 1024 MB के बराबर है।

▬ सूचना के आगमन एवं कार्यक्रम की खोज करने के लिए विशिष्ट भाषा SNOBOL का प्रयोग होता है।

▬ पर्सनल कम्प्यूटर पर सर्वप्रथम पुस्तक टेड नेल्सन ने लिखा ।

▬ कम्प्यूटर पर लिखी पुस्तक सोल ऑफ न्यू मशीन (लेखक-टैसी किडर) को पुलित्जर पुरस्कार दिया गया।

▬ कम्प्यूटर की प्रथम पत्रिका कम्प्यूटर एण्ड आटोमेशन है।

▬ प्रथम घेरलू कम्प्यूटर कमोडोर VIC/20 है।

▬ वैज्ञानिकों के अनुसार भारतीय भाषा संस्कृत कम्प्यूटरीकृत करने के लिए सबसे आसान है।

▬ कम्प्यूटर में प्रोग्राम की सूची को मेन्यू (Menu) कहा जाता है।

▬ डेटा प्रोसेसिंज का अर्थ है वाणिज्यिक उपयोग के लिए जानकारी तैयार करना ।

▬ रिकार्ड्स का संग्रह फाइल कहलाता है।

▬ डिजिटल कम्प्यूटर की कार्य पद्धति गणना और सिद्धांत पर आधारित है।

▬ विश्व का प्रथम डिजिटल कम्प्यूटर यूनीवेक था।

▬ फोरट्रॉन प्रोग्रामन हेतु विकसित की गई सर्वप्रथम भाषा है।

▬ हिन्दी कमाण्ड स्वीकार करने वाला कप्यूटर भाषा प्रदेश है।

▬ कोबोल उच्च स्तरीय भाषा (HLL) अंग्रेजी भाषा के समान है।

▬ कोबोल भाषा में सर्वाधिक उपयुक्त डॉकूमेन्टेशन संभव है।

▬ अनुवाद प्रोग्राम जो उच्चस्तरीय भाषा का निम्नस्तरीय भाषा में अनुवाद करता है कम्पाइलर कहलाता है।

▬ बेसिक (BASIC) भाषा को फोरट्रोन (FORTRON) एलगोल, पाम्कल आदि को सिखाने के लिए ‘नींव का पत्थर’ कहा जाता है।

▬ माइक्रो प्रोसेसर चतुर्थ पीढ़ी का कम्प्यूटर है।

▬ प्रौलोग (PROLOG) पंचम पीढ़ी के कम्प्यूटर की भाषा है।

▬ इन्टीग्रेटेड सर्किट चिप का विकास जे० एस० किल्वी ने किया ।

▬ इन्टीग्रेटेड मर्किट चिप पर सिलिकॉन की परत होती है।

▬ कम्प्यूटर अशुद्धि को बग (Bug) कहा जाता है।

▬ पुणे के सी डैक (C-DAC) के वैज्ञानिक ने 28 मार्च, 1998 को प्रति सेकण्ड एक खरब गणना करने की क्षमता से युक्त कम्प्यूटर परम-10000 का निर्माण किया। इसके विकास का मुख्य श्रेय C-DAC के कार्यकारी निदेशक डॉ० विजय पी० भास्कर को जाता है।

▬ भारत में सर्वप्रथम नेशनल एयरोनौटिक्स लेबोरेटरीज (बंगलौर) ने फ्लोसावर नामक सुपर कम्प्यूटर विकसित करने में सफलता पायी थी।

▬ कम्प्यूटर पर परमाणु परीक्षणों को सबक्रिटिकल परीक्षण कहा जाता है।

▬ लेजर प्रिन्टर सर्वाधिक तेज गति का प्रिन्टर है।

▬ IBM एक कम्प्यूटर कम्पनी है।

▬ कम्प्यूटर वाइरस एक मानव निर्मित डिजीटल परजीवी है, जो फाइल संक्रामक के नाम से जाना जाता है।

▬ वाई-टू-के (Y-2K) संकट अर्थात इयर टू थाउजेंड (Year 2000 crisis) तारीखों से संबंधित कम्प्यूटर की समस्या थी। Y-2K संकट को मिलियन बग भी कहा गया।

▬ किसी कम्प्यूटर या उसके हार्ड डिस्क या किसी चलते हुए कार्यक्रम (प्रोग्राम) का अचानक खराब हो जाना या समाप्त हो जाना कैश कहलाता है।

कम्प्यूटर से संबंधित शब्द संक्षेप

ALU – Airthmetic Logic Unit

ALGOL – Algorithmic Language

ASCII – American Standard Code for Information Interchange

BASIC – Beginner’s All Purpose Symbolic Instruction Code

BCD – Binary Coded Decimal Code

CPU – Central processing Unit

CAD – Computer Aided Design

COBOL – Common Business Oriented Language

CD – Compact Disk

C-DOT – Centre for Development of Telematics

CLASS – Computer Literacy And Studies in School

COMAL – Common Algorithmic Language

DOS – Disk Operating System

DTS – Desk Top System

DTP – Desk Top Publishing

E-Commerce – Electronic Commerce

E-mail – Electronic Mail

ENLAC – Electronic Numerical Integrator and Computer

FORTRON – Formula Translation

FAX – Far away xerox

Flops – Floating Operations per Second

HLL – High Level Languages

HTML – High Text Markup Language

IBM – International Business Machine

IC – Integrated Circuit

ISH – Information Super Highway

LAN – Local Area Network

LDU – Liquid Display Unit

LISP – List Processing

LLL – Low Level Language

MICR – Magnetic Ink Character Reader

MIPS – Millions of Instructions Per Second

MOPS – Millions of Operation Per Second

MODEM – Modulator-Demodulator

NICNET – National Information Centre Network

OMR – Optical Mark Reader

PC-DOS – Personal Computer Disk Operating System

PROM – Programmable Read Only Memory

RAM – Random Access Memory

ROM – Read Only Memory

RPG – Report Program Generator

SNOBOL – String Oriented Symbolic Language

VDU – Visual Display Unit

VLSI – Very Large Scale Integration

WAN – Wide Area Network

WWW – World Wide Web







Explore