Success Khan Logo

तुर्की इटली में फासिस्टों का उदय

▬ तुर्की को ‘यूरोप का मरीज’ कहा जाता था।

▬ पान इस्लामिज्म का नारा अब्दुल हमीद द्वितीय ने दिया था।

▬ युवा तुर्क आन्दोलन की शुरुआत अब्दुल हमीद द्वितीय के शासनकाल में 1908 ई० में हई।



▬ प्रथम विश्व युद्ध के बाद तुर्की के साथ भीषण अपमानजनक संधि सेब्र की संधि 10 अगस्त 1920 ई० को की गयी। मुस्तफा कमालपाशा ने इसे मानने से इंकार कर दिया।

▬ आधुनिक तुर्की का निर्माता मुस्तफा कमाल पाशा को माना जाता है। इसे ‘अतातुकी (तुर्की का पिता) के उपनाम से भी जाना जाता है।

▬ मुस्तफा कमाल पाशा का जन्म 1891 ई० में सेलेनिका में हुआ था।

▬ तुर्की में एकता और प्रगति समिति का गठन 1889 ई० में हुआ।

▬ प्रारंभ में कमाल पाशा एकता और प्रगति समिति के प्रभाव में आया।

▬ एक सेनापति के रूप में कमाल पाशा ने गल्लीपोती युद्ध में शानदार सफलता हासिल की। इसके बाद 1919 ई० में कमाल पाशा ने सैनिक पद से इस्तीफा दे दिया।

▬ 1919 ई० के अखिल तुर्क काँग्रेस के प्रथम अधिवेशन की अध्यक्षता मुस्तफा कमाल पाशा ने की। 1923 ई० में तुर्की एवं यूनान के बीच में लोजान की संधि हुई।

▬ 23 अक्टूबर, 1923 ई० को तुर्की गणतंत्र की घोषणा हुई।

▬ कमाल पाशा ने तुर्की में 3 मार्च, 1929 ई० को खिलाफत को समाप्त कर दिया।

▬ 20 अप्रैल, 1924 ई० को तुर्की में नए संविधान की घोषणा हुई।

▬ तुर्की के नए गणतंत्र का राष्ट्रपति मुस्तफा कमाल पाशा हुआ।

▬ रिपब्लिकन पीपुल्स पार्टी का संस्थापक मुस्तफा कमाल पाशा था।

मुस्तफा कमाल पाशा द्वारा किए गए महत्त्वपूर्ण कार्य निम्न हैं:

(i) 1932 ई० में तुर्की भाषा परिषद की स्थापना

(ii) 1933 ई० में तुर्की में प्रथम पंचवर्षीय योजना का लागू होना

(iii) 1924 ई० में तुर्की को धर्मनिरपेक्ष राज्य की घोषणा

(iv) इस्ताम्बुल में एक मेडिकल कॉलेज की स्थापना।

(v) ग्रिगोरियन कॅलेडर का प्रचलन (26 दिसम्बर, 1925 ई० से लागू)।

▬ इस्ताम्बुल का पुराना नाम कुस्तुनतुनिया था।

▬ 25 नवम्बर, 1925 ई० को तुर्की में टोपी और औरतों को बुरका पहनने पर कानूनी प्रतिबंध लगाया गया।

▬ कमाल पाशा की मृत्यु 1938 ई० में हो गयी।

इटली में फासिस्टों का उदय

▬ फासिज्म का उदय सर्वप्रथम इटली में हुआ। इसका जन्मदाता मसोलिनी को माना जाता है।

▬ मुसोलिनी का जन्म 1883 ई० में रोमाग्ना में हआ था।

▬ मुसोलिनी के दल का नाम फासिस्टवाद था। इसकी स्थापना मिलान में की गयी थी।

▬ इयूस के नाम से मुसोलिनी को पुकारा जाता था।

▬ फासीवादी राष्ट्रवाद का समर्थन करते थे।

▬ फासीवादी दल के स्वयंसेवक काली कमीज पहनते थे।

▬ मुसोलिनी ने डियाज को सेना का अधिकारी नियुक्त किया।

▬ मुसोलिनी द्वारा बनाए गए निगमों की संख्या 22 थी।

▬ राष्ट्रिय निगम परिषद् का अध्यक्ष मुसोलिनी था, जिसकी सदस्यों की संख्या 500 थी।

▬ ग्रैंड कौंसिल ऑफ फासिस्ट पार्टी के सदस्यों की संख्या 25 थी।

▬ मुसोलिनी ने अक्टूबर 1922 ई० में रोम पर और 1935 ई० में अबीसीनिया पर आक्रमण किया।

▬ जापान एवं जर्मनी के साथ मुसोलिनी नेरोम बर्लिन टोकियो धुरी का निर्माण 1936 ई० में किया।

▬ मुसोलिनी ने 10 जून, 1939 ई० को द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान मित्रराष्ट्रों के विरुद्ध युद्ध घोषणा की। इटली में फासीवाद का अन्त 28 अप्रैल, 1945 ई० को माना जाता है।







Explore