Success Khan Logo

पर्यायवाची शब्द : हिन्दी

सामान्य परिचय – समान अर्थ वाले शब्दों को पर्यायवाची कहते है । पर्यायवाची शब्दों के अंतर्गत दो प्रकार के शब्द देखने को मिलते है । एक तो वे शब्द है जिनके अंतर्गत वे शब्द आते है जो तत्सम है तथा जिनका प्रयोग शुद्ध , परिष्कृत एवं प्रांजल शब्दावली के रूप में होता है । दूसरे प्रकार के ऐसे पर्यायवाची शब्द है जो अंग्रजी , अरबी , फ़ारसी आदि विदेशी भाषाओ से गृहित हैं और हिंदी में इनका प्रयोग खुलकर किया जाता हैं । नीचे वर्ग के अंतर्गत पांच उदाहरण दिए जाते हैं —

1. शुद्ध हिंदी के पर्यायवाची शब्द –

(i) अग्नि-पावक-अनल
(ii) नयन-नेत्र – लोचन
(iii) पुष्प – कुसुम-सुमन
(iv) अमृत-सुधा- पीयूष
(v) पवन – वायु – अनिल

2. अन्य भाषाओं से आगत पर्यायवाची शब्द —

(i) अंक- नंबर-मार्क्स
(ii) अंघड़- तूफ़ान- स्टॉर्म
(iii) इस्पात-फौलाद- स्टील
(iv) सड़क-मार्ग-रोड
(v) अकल-बुद्धि-समझ



3. तद्भव एवं देशज शब्दों से निर्मित पर्यायवाची शब्द –

(i) अन्धकार-अँधेरा
(ii) उक्ताना-ऊबना
(iii) तीक्ष्ण-तीखा-तेज
(iv) निद्रा – नींद
(v) ढूंढ़ना-खोजना

 

कछ पयार्यवाची शब्दों की सूची

  •    शब्द ——— पर्यायवाची
  • गंगा ———- भागीरथी, देवनदी, मन्दाकिनी, विष्णुपदी |
  • चन्द्र ———- चाँद, चन्द्रमा, द्विजरात, शशि, निशाकर |
  • दुर्गा ———- चण्डिका, सुभद्रा, कालिका, सिंहवाहिनी |
  • नदी ———- सरिता, तरंगिणी, आपगा, तटिनी, निम्नगा |
  • हवा ———- वायु, पवन, अनिल, बयार, मारूत ।
  • पृथ्वी ——— भूमि, धरती, भू, वसुन्धरा, धरणी |
  • मेघ ———- बादल, जलधर, घन, जगजीवन, पयोद |
  • पक्षी ——— विहंग, चिड़ियाँ, पंक्षी, खेचर, द्विज |
  • अग्नि ——— आग, अनल, दहन, पावक, हुताशन |
  • असुर ——– दनुज, राक्षस, दैत्य, दानव, निशाचर |
  • अमृत ——– पीयूष, सुधा, सोमरस, आवेहयात |
  • अश्व ——— घोड़ा, घोटक, सैन्धव, वाजि, तुरंग |
  • आकाश —– गगन, आसमान, अम्बर, नभ, व्योम |
  • गणेश ——- लम्बोदर, गणपति, गजानन, भवानीनंदन |
  • पुत्र ———- बेटा, सुत, तनय, आत्मज, तनुज ।
  • पुत्री ——— बेटी, तनया, आत्मजा, सुता, नन्दिनी |
  • घर ———- आलय, आवास, गृह, निलय, सदन |
  • पत्नी ——— गृहिणी, घरनी, जाया, दारा, भार्या |
  • विष्णु ——– केशव, चतुर्भुज, वनमाली, नारायण |
  • सरस्वती —- शारदा, भाषा, वीणापाणि, विधात्री ।
  • सूर्य ——— रवि, दिनकर, भास्कर, ग्रहपति, सविता |
  • कमल —— जलज, सरोज, नलिन, कंज, अम्बुज |
  • देवता ——- अमर, आदित्य, सुर, देव, त्रिदशा |
  • मछली —— मत्स्य, मीन, सफरी, झख, जलचर |
  • दुःख ——– पीड़ा, व्यथा, कष्ट, संकट, व्याधि ।
  • पुष्प ——– फूल, सुमन, कुसुम, प्रसून, पुहुप |
  • पति ——– भर्ता, वल्लभ, स्वामी, आर्यपुत्र, नाथ |
  • राजा ——- नृप, भूप, महीप, नरेश, सम्राट, भूपति |
  • सोना ——- स्वर्ण, कंचन, कनक, हाटक, सुवर्ण, हेम |
  • स्त्री ——– नारी, वनिता, कान्ता, महिला, औरत ।
  • समूह —— समुदाय, संघ, जत्था, दल, गण, झुण्ड |
  • किरण —– मरीचि, अंशु, रश्मि, प्रभा, मयूख, कर |
  • कपड़ा —– वस्त्र, पट, वसन, चीर, अम्बर |
  • आँख —— नेत्र, लोचन, नयन, चक्षु, अक्षि, अम्बक |
  • चोर ——- तस्कर, दस्यु, रजनीचर, कुम्भिल, साहसिक |
  • तलवार —- खड़ग, असि, करवाल, शमशीर, कृपाण |
  • तालाब —– सर, सरोवर, जलाशय, पुष्कर, पद्माकर |
  • नौका —— नाव, तरणी, तरी, बेड़ा, डोंगी, पतंग |
  • पण्डित —- विद्वान, कोविद, धीर, मनीषी, प्राज्ञ |
  • पुरुष —— जन, नर, मनुज, मनुष्य, मानव, आदमी ।
  • बुद्धि —— धी, प्रज्ञा, मति, मनीषा, अक्ल, मेधा ।
  • भ्रमर —— भौरा, अलि, मूंग, मधुकर, मिलिन्द ।
  • मुनि ——- साधु, सन्त, वैरागी, संन्यासी, महात्मा |
  • रात ——- रात्रि, निशा, विभावरी, रजनी, क्षणदा |
  • लक्ष्मी —– कमला, इन्दिरा, पद्मा, रमा, श्री ।
  • वन ——– कानन, जंगल, अरण्य, विपिन, कान्तर |
  • शत्रु ——– वैरी, दुश्मन, प्रतिपक्षी, रिपु, विपक्षी |
  • शरीर —— काया, देह, बदन, तन, कलेवर, वपु ।
  • सेना ——- कटक, फौज, वाहिनी, दल, चमू ।
  • सुन्दर —— चारु, रुचिर, मनोहर, रमणीक, रम्य |
  • संसार —— जगत, विश्व, जग, भव, भुवन, लोक |
  • कामदेव —- मदन, मनोज, काम, मनसिज, रतिपति |
  • कोयल —– कोकिल, पिक, परभृत, कुहूरूत |
  • गधा ——– गर्दभ, खर, धूसर, वैशाखनन्दन।
  • आश्रम —– मठ, विहार, कुटी, स्तर, संघ, अखाड़ा |
  • दौलत —— सम्पत्ति, सम्पदा, विभूति, धन, अर्थ ।
  • निर्मल —— साफ, पवित्र, विमल, स्वच्छ, शुद्ध |
  • अनुपम —– अनोखा, अपूर्व, अद्भुत, अनूठा, अतुल |
  • अपमान —- तिरस्कार, अवमान, अनादर, निरादर ।
  • दया ——– कृपा, अनुग्रह, अनुकम्पा, सांत्वना, क्षमा |






Explore